Google Search

UPI Transaction Complaint Number, Email Id | अब UPI से पेमेंट करना हुआ और भी सेफ

अब UPI से पेमेंट करना हुआ और भी सेफ 

UPI transaction complaint Number, Email Id,

BHIM Helpline: UPI customer care number

Now you can also reach out to the BHIM Toll Free number 18001201740

https://www.npci.org.in/get-in-touch

UPI Payment 

आज के दौर में हम  डिजिटल इंडिया की तरफ आगे बढ़ रहे हैं,  ऐसे में पैसे के लेनदेन में डिजिट  लाइजेशन तेजी से बढ़ रहा है,   हम कोरोनावायरस महामारी के दौरान  ऑनलाइन पेमेंट तेजी से बाधा इसमें यूपीआई का भूमिका  सबसे आगे है,  यूपीआई यानि Unified Payments Interface .

UPI पेमेंट करते समय होने वाली समस्या ?

कई बार क्या होता है कि यूपीआई के द्वारा किया गया लेनदेन फिल्म हो जाता है। 

जिससे ग्राहकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है इस समस्या को दूर करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने नियम बनाए हैं, नियम के तहत अगर यूपीआई ट्रांजैक्शन फेल हो गया, खाते से पैसे कटे और वापस नहीं आए, तो Bank ग्राहकों को रोजाना ₹100 का जुर्माना देगी, 

UPI को लेके RBI के गाइड लाइन 

दरअसल सितंबर 2000 मैं आरबीआई ने फिर ट्रांजैक्शन के लिए एक नया सर्कुलर जारी किया था, जिसमें पैसे ऑटो रिवर्सर को लेकर टाइम फ्रेम जारी किया गया, इस  सर्कुलर के अनुसार fel हुए लेनदेन का पैसा, ऑटो रिवर्सर, yani लेनदेन के तारीख से 1 दिन के अंदर पूरा हो जाना चाहिए, इसे आसान भाषा में समझे तो अगर आपका ट्रांजैक्शन फेल हुआ है तो अगले कारोबारी दिन तक खाते में पैसे वापस आ जाए,

किन करने से UPI फैले हो जाता है ?

अगर ऐसा नहीं हुआ तो देरी के लिए Bank रोजाना हर जाने के रूप में आपको 100 रुपए देगी, 

आप बताती है कि आखिर ट्रांजैक्शन फेल होता है ?

तो इसके कई कारण हो सकते हैं, 

1. कई बार क्या होता है कि हम अपने लिमिट से ज्यादा ट्रांजैक्शन कर लेते हैं,

2. नेटवर्क यीशु के कारण भी ट्रांजैक्शन फेल होता है

3. कई बार गलत Pin के कारण भी फिर हो जाता है

4 . कोई बात पैसे कम होने के कारण भी फेल हो जाता है,

5.  या हमने गलती से गलत UPI आईडी डाल दिया हो

इसके उपाय क्या है, और हमें क्या करना चाहिए ?

वैसे आमतौर पर पैसे कटने पर अपने आप वापिस आ जाता है, लेकिन पैसे वापस नहीं आए तो आप UPI App पर जाकर अपना शिकायत दर्ज कर सकते हैं, इसके लिए आपको अपने UPI App पर जाना होगा, उसके बाद पेमेंट हिस्ट्री par जाना होगा, उसके बाद raise despute पर क्लिक करना होगा, raise despute पर आपको अपना शिकायत दर्ज करवाने होंगे, Despute Status me apni शिकायत देख सकते हैं, 

 

 


Post a Comment

0 Comments